खोज करे

Indian cryptocurrency in hindi

अपडेट किया गया: फ़र. 8

आपने क्रिप्टोकरेंसी के बारे में खूब सुना होगा। मगर इसके बारे में जानकारी आपको शायद ही होगी। आपको शायद पता हो कि ये एक वर्चुअल करेंसी है, मगर ये कैसे काम करती है या इससे जुड़ी जानकारी आपके पास शायद नहीं होगी। हम आपको बताते हैं क्रिप्टोकरेंसी के बार में|



आपने पैसों यानि करेंसी के कई रूप देखे होंगे, जैसे भारत में रूपये, अमेरिका में डॉलर, ब्रिटेन में पौंड, यूरोप में यूरो आदि. इस सभी करेंसी को आपने कागज के दुकड़ों के रूप में देखा होगा, और इसे आप हाथ से छू सकते हैं, अपने जेब में रख सकते हैं. आप दुनिया में जहाँ भी जायें, आपको वहाँ की करेंसी का इस्तेमाल करना होता है

वैसे ही डिजिटल currency होती है cryptocurrency तो दोस्तों अप्पको थोड़ा तो समझ अहिगया होगा के cryptocurrency क्या है


Type of Cryptocurrency


cryptocurrency के टाइप की बात करे तो No 1 पर आता है बिटकॉइन(Bitcoin) और भी बहुत सरे

Cryptocurrency है पर बिटकॉइन(Bitcoin) ही क्यू तो अगर अप्प इस में निवेश करते है तो अप्प दोगना प्रॉफिट कमा सकते है और भी बहुतcryptocurrency के टाइप है जैसे

  1. Bitcoin Cash. ...

  2. Litecoin. ...

  3. Ethereum. ...

  4. Ripple. ...

  5. Stellar. ...

  6. NEO. ...

  7. Cardano


तो आईये जानते है Bitcoin के बारे में


बिटकॉइन(Bitcoin) क्या है




Bitcoin दुनिया से सबसे पहला Cryptocurrency है. जिसे Satoshi Nakamoto ने 2009 में बनाया था.

बिटकॉइन एक डिजिटल करन्सी या फिर वर्चुअल करन्सी (Virtual Currency) है बिटकॉइन को डिजिटल वॉलेट में रखा जाता है ये ओपन सोर्स है इसे कोई भी यूज़ कर सकता है वर्चुअल करन्सी का मतलब ये है की ये पैसा तो है इसका यूज़ हम हर जगह कर सकते है लेकिन इसे हम न तो छु सकते है और न ही देख सकते है या फिर आप मान सकते है की ये एक तरह का पॉइंट्स होता है जो हमें मिलता है जिसे हम बाद में अपने देश के मुद्रा के हिसाब से कन्वर्ट कर सकते है

अब आप सोच रहे होंगे की इसे हम न तो छु सकते है और न ही देख सकते है क्या ये हमेशा होगा तो यहाँ में आपको बताना चाहूँगा की ऐसा कुछ नहीं है बस इसे एक वर्चुअल करन्सी नाम दिया गया है बाद में आप इसे अपने बैंक अकाउंट में भेज कर अपने देश का करन्सी बना सकते है



2.Ethereum (ETH)


Bitcoin के जैसे ही Ethereum भी open- source, decentralized blockchain based computing platform है. इसके Founder का नाम है Vitalik Buterin. इसके Cryptocurrency token को 'Ether' भी कहा जाता है. ये Platform इसके users को digital token बनाने में मदद करता है जिसकी मदद से इसे currency के तोर पर इस्तमाल किया जा सकता है. हाल ही में ही एक Hard Fork के होने से Ethereum दो हिस्सों में विभाजित हो गया है Etherem (ETH) 3 Etheriem Classic (ETC). Bitcoin के बाद ये दूसरा सबसे प्रसिद्ध Cryptocurrency .


3. Litecoin (LTC)


Litecoin ft decentralized peer-to-peer cryptocurrency है जिसे की एक open source software जो की release हुआ है under the MIT/X11 license के अंतर्गत October, 2011 में Charles Lee के द्वारा जो की पहले एक Google Employee रह चुके हैं. इसके बनने के पीछे Bitcoin का बहुत बड़ा हाथ है और इसकी बहुत सारी features Bitcoin से मिलती झूलती हैं. Litecoin की block generation की time Bitcoin के मुकाबले 4 गुना कम है. इसलिए इसमें Transaction बहुत हो जल्दी पूर्ण हो जाती हैं. इसमें Scrypt algorithm का इस्तमाल होता है Mining करने के लिए.


4. Dogecoin (Doge)


Dogecoin की बनने की कहानी काफी रोचक है. इसे Bitcoin को मजाक करने के लिए कुत्ते से उसकी तुलना की गयी जो आगे चलकर एक Cryptocurrency का रूप ले लिया. इसके Founder का नाम है Billy Markus. Litecoin की तरह ही इसमें भी Scrypt Algorithm का इस्तमाल होता है.


आज Dogecoin की Market Value है $197 million से भी ज्यादा और इसे पुरे विश्व में 200 merchants से भी ज्यादा में accept किया जाता है. इसमें भी Mining दूसरों के मुकाबले बहुत जल्दी होती है.


5 . Dash (DASH)


इसके पहले के नाम थे XCoin और Darkcoin, Dash, का अर्थ है की 'Digital' और 'Cash'. ये ch open source, peer-to-peer cryptocurrency है Bitcoin के जैसे ही. लेकिन इसमें Bitcoin की तुलना में ज्यादा features मौजूद है जैसे की 'InstantSend' और 'PrivateSend'. InstantSend में Users आसानी से अपने transactions को पूर्ण कर सकते हैं वहीं Privatesend में transaction पूरी तरह से safe होता है जहाँ की users की privacy को काफी importance दिया जाता है.


CryptoCurrency के फायदे


Cryptocurrency में fraud होने के chances बहुत ही कम हैं.


• Cryptocurrency की अगर बात की जाये तो ये normal digital payment से ज्यादा secure होते हैं.


• इसमें transaction fees भी बहुत है कम है अगर हम दुसरे payment options की बात करें तब.


• इसमें account बहुत ही secure होते हैं क्यूंकि इसमें अलग अलग प्रकार के Cryptography Algorithm का इस्तमाल किया जाता है.


Cryptocurrency के नुकसान


Cryptocurrency में एक बार transaction पूर्ण हो जाने पर उसे reverse कर पाना असंभव होता है क्यूंकि इसमें वैसे कोई options ही नहीं होती है.


अगर आपका Wallet के ID खो जाती है तब वो हमेशा के लिए खो जाती है क्यूंकि इसे दुबारा प्राप्त करना संभव नहीं है. ऐसे में आपके जो भी पैसे आपके wallet में स्तिथ होते हैं वो सदा के लिए खो जाते हैं.


बिटकॉइन खरीदने के लिए सबसे बेस्ट ऐप और साइट | BEST Bitcoin Purchasing Apps 2021 India (Hindi)


  • Zebpay (जेबपे) वेबसाइट या मोबाइल एप से खरीद सकते हैं बिटकॉइन

  • WazirX Multi-Cryptocurrency

  • Unocoin युनोकोऐन भी है अच्छा विकल्प

  • CoinSwitch Kuber App


हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

Made with ❤ in